Recently on TheGitaTamil

அத்தியாயம் ௫ - ஸ்லோகம் ௨௰௪

அத்தியாயம் ௫ - ஸ்லோகம் ௨௰௪

TheGitaTamil_5_24
Find the same shloka below in English and Hindi.
TheGita – Chapter 5 – Shloka 24

Shloka 24

One who is truly happy, peaceful and enlightened with his Soul, that wise man (Yogi) has combined with the supreme Soul (God) as one and attains freedom from all bondages to the world.

जो पुरुष अन्तरात्मा में ही सुख वाला है, आत्मा में ही रमण करने वाला है तथा जो आत्मा में हीं ज्ञान वाला है, वह सच्चिदानन्दधन परब्रह्म परमात्मा के साथ एकीभाव को प्राप्त सांख्य योगी शान्त ब्रह्म को प्राप्त होता है  ।। २४ ।।

The Gita in Sanskrit, Hindi, Gujarati, Marathi, Nepali and English – The Gita.net