Recently on TheGitaTamil

அத்தியாயம் ௫ - ஸ்லோகம் ௨௰௫

அத்தியாயம் ௫ - ஸ்லோகம் ௨௨௰௫

TheGitaTamil_5_25
Find the same shloka below in English and Hindi.
TheGita – Chapter 5 – Shloka 25

Shloka 25

Those wise men or sages who have abolished and destroyed all their sins with the achievement of true Gyan (Knowledge), and who have devoted themselves to the welfare of other beings, attain supreme and eternal peace.

जिनके सब पाप नष्ट हो गये हैं, जिनके सब संशय ज्ञान के द्वारा निवृत हो गये हैं, जो सम्पूर्ण प्राणियों के हित में रत हैं और जिनका जीता हुआ मन निश्चल भाव से परमात्मा में स्थित है, वे ब्रह्मवेत्ता पुरुष शान्त ब्रह्म को प्राप्त होते हैं ।। २५ ।।

The Gita in Sanskrit, Hindi, Gujarati, Marathi, Nepali and English – The Gita.net